डॉ.प्रवीण तोगड़िया की सनसनीखेज भेंट वार्ता
कभी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ स्वयंसेवक एवं विश्व हिन्दू परिषद् के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष रहे और अब अलग राजनितिक दल “हिन्दुस्थान निर्माण दल” के सुप्रीमो तथा केंसर सर्जन डॉ.प्रवीण तोगड़िया ने वरिष्ठ पत्रकार डॉ.हरि देसाई से विशेष भेंटवार्ता में कई सनसनीखेज रहस्योदघाटन किए. कभी वर्त्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमसफ़र रहे डॉ.तोगड़िया से भेंटवार्ता के सम्पूर्ण अंश और अन्य सामग्री आप के लिए प्रस्तुत हैं. भेंटवार्ता सुनकर अपने प्रतिभाव अवश्य लिखें.

४. फायरब्रांड हिन्दू नेता डॉ.तोगड़िया कहते हैं, “रा.स्व.संघ के परिभाषा में एकबार जो स्वयसेवक है वह हंमेश स्वयंसेवक होता है; किन्तु वह आरएसएस के संस्थापक डॉ.केशव बलिराम हेडगेवार की विभावना का स्वयंसेवक. हम तो डॉ.हेडगेवार की परिभाषा में स्वयंसेवक रहना चाहेंगे, जोकि यक़ीनन कांग्रेसी थे.” “डॉ.हेडगेवार कहते थे कि हिंदुत्व ही राष्ट्रीयत्व और भारत हिन्दुराष्ट्र है.इस्लाम राष्ट्र को नहीं मानता और अब के  संघ के सरसंघचालक मोहनराव भागवत को ९० साल के बाद दिल्ली के सत्ता के गलियारे से ब्रह्मज्ञान प्राप्त हुआ और कहते हैं कि मुसलमानों के बिना राष्ट्र संभव नहीं. हमें तो डर है कि नौ साल के बाद जो नया सरसंघचालक आए वह कहीं यह ना कह दे कि हिन्दू अराष्ट्रीय है और मुस्लिम ही राष्ट्रीय हैं.”

0 Comments